Sunday, March 20, 2011

Go Green

हरियाली और होली

 
कमरे में जंगल घर में मंगल

 
हरयाली और चौकीदार


         My personal oxygen center  


        मुझ पे ये कुदरत ने हरा रंग डाला


                यहाँ भी हरा भरा      
                                                               

  कुछ नकली 

                                                       
कुछ असली  



मेरी बेटियों की विचारगाह



ये हरियाली का वायरस



मेरी तन्हाई रोज़ यहाँ मुझसे मिलने आती है



Loo in a jungle or jungle in a loo

23 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

हरा भरा घर।

Chinmayee said...

बहुत सुन्दर

मेरी चीव चीव चिरैया ......My Friend Sparrow
http://rimjhim2010.blogspot.com/2011/03/my-friend-sparrow.html

राज भाटिय़ा said...

बहुत सुन्दर लगा जी, धन्यवाद

ज्योति सिंह said...

is hariyaali ko dekh man hara bhara ho gaya ,man hua kash yahan pahunch paati ,umda sajavat ,mujhe prakrati se bahad prem hai ,shirshak bhi har chitr ke prabhavshaali lage .

neel pardeep said...

अरे वाह भाई शाश्वती ,तुम तो रचना की बहुत ही अद्भुत रचना हो.देखा मेने कमाल की लड़की नहीं कहा .तुम बुरा मान जान जाती की नहीं में तो ममा की बेटी हूँ,keep it up,beta. tumhara uncle- pardeep neel www.neelsahib.blogspot.com

धीरेन्द्र सिंह said...

शाश्वती जी के कैमरे में रचना जी की मन की आँखें हैं तभी तो, रचना जी ने जो बात् अपनी कविता गो ग्रीन में कहीं हैं वही अंदाज़ शाश्वती जी के कैमरे ने भी कह डाली है. एक ही भाव के यह दो अंदाज़ हैं या दो शारीर में एक ही विचार? इसे कहते हैं सही तौर पर प्रतिभा हस्तान्तरण. एक दूजे के विचार अपने-अपने अंदाज़ में कितने करीब, कितने खास. बस यूँ ही अभिव्यक्त होते रहिये. शुभकामनाएं.

Patali-The-Village said...

हरा भरा घर, बहुत सुन्दर लगा धन्यवाद|

आचार्य परशुराम राय said...

शाश्वती का संग्रह और अवधारणा (PERCEPTION) प्रशंसनीय है। उन्हें मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ।

shikha varshney said...

वाह वाह वाह .बेहतरीन तस्वीरें हरी भरी.

Rajey Sha राजे_शा said...

near to nature, near to god...

सतीश सक्सेना said...

बहुत खूब !!
इस बहाने पूरा घर ही देख लिया :-)
शुभकामनायें शास्वती !

VIJUY RONJAN said...

great Rachna ji...isse behatar bhawnaaon ka kolaz kya ho sakta hai...
bahut khoob

Dr (Miss) Sharad Singh said...

Rachna ji,
It is true greenery....
It is .... to give comfort to the eyes and heart...really..

sm said...

green home
great pics

वीना said...

वाकई में सोचने का स्थल ही जोरदार होना चाहिए...सुंदर घर और विचारगाह भी बहुत अच्छी लगी

kase kahun?by kavita. said...

prakriti premi....bahut sunder...

kunwarji's said...

waah!
anuthhi kavita dekhi aaj yaha..

kunwar ji,

Dinesh pareek said...

Bahut hi accha laga apke balog pe ake kabhi app mere blog pe aye
Dhanyawad

mahendra srivastava said...

वाकई ... बहुत ही खूबसूरत

prerna argal said...

बहुत सुंदर /ऐसा लग रहा है की घर के अंदर ही हरियाली और प्रकृति का आनंद मिल रहा है./
keep it up.

prerna argal said...
This comment has been removed by the author.
JHAROKHA said...

rachna ji
shahwati beti to bilkul aapke hi nakshe kadam par chal rahi hain
bahit hi sundar laga .saare hi hariyaali man ki aankho me sama gai hai
My personal oxygen center
ye hariyaali kuchh jyada hi achhi lagi.
shshwati ko bahit bahut sneh dijiyega meri taraf se .
bahut bahut badhai
poonam

uhooi said...

nice your blog,,,,
visit our blog at http://uhooi.blogspot.com/